मंदिर के खुलने व बंद होने का समय

शीतकाल
(शारदीय नवरात्र के अंतिम दिन के बाद से)

खुलने का समय - प्रातः 5.30
बंद होने का समय - रात्रि 9.30
ग्रीष्मकाल
(वासांतिक नवरात्र के अंतिम दिन के बाद से)

खुलने का समय - प्रातः 05.00 बजे
बंद होने का समय - रात्रि 10.00 बजे
गर्मियों अनुसूची वासंतिक नवरात्र के अंतिम दिन के बाद शुरू होता है.
नवरात्र आरती का समय
नवरात्रों में मंदिर प्रातः 4.00 बजे खुलकर रात्रि 12.00 बजे बंद होता है। सायं 6.15 से सायं 7.00 बजे तक मंदिर सफाई हेतु बंद रहता है ।
रविवार, मंगलवार, प्रत्येक मास की शुकक़्ल फक्ष की अष्टमी ऋवं प्रमुखों त्यौहारों फर मंदिर सारा दिन खुला रहता है । अन्य दिनों में मंदिर दोपहर 1.00 बजे से सायं 4.00 बजे तक बंद रहता है ।
मंदिर में आरती का समय
ग्रीष्मकालीन समयशीतकालीन समय
मंगल आरतीप्रातः 5.30 बजेप्रातः 6.00 बजे
श्रॄंगार आरतीप्रातः 9.00 बजेप्रातः 9.00 बजे
भोग आरतीदोपहर 12.00 बजेदोपहर 12.00 बजे
संध्या आरतीरात्रि 8.00 बजेरात्रि 7.30 बजे
शयन आरतीरात्रि 10.00 बजेरात्रि 9.30 बजे
नवरात्रों में आरती केवल प्रातः 4.00 बजे और सायं 7.00 बजे की जाती है ।