झंडेवाला माता मंदिर में आपका स्वागत है ।

राजधानी दिल्ली के बीचोंबीच पहाडगंज स्थित बद्री भगत झंडेवाला मंदिर एक प्राचीन शक्तिपीठ है । जहाँ विराजमान माँ झंडेवाली की ख्याति पूरे भारतवर्ष में ही नहीं अपितु विदेशो में भी फैली हुई है । राजधानी दिल्ली के दशर्नीय स्थलों में गिना जाने वाला यह मंदिर विदेशी पर्यटकों को भी आकर्षित करता है और वह पूरी श्रॄद्धा और विश्वास के साथ मंदिर में दशनार्थ आते हैं ।
यह मंदिर कितना पुराना है यह तो कहना मुश्किल है । किंतु आज से 125 वर्ष पहले माँ के भक़्त बद्री दास जी ने माँ की प्रेरणा से इस भूमिगत मंदिर को खुदाई करके निकाला । प्राचीन प्रतिमा गुफा में विराजमान है और उस के ठीक ऊपर माँ की नई प्रतिमा पूर्ण विधि - विधान के साथ स्थापित की गई है । 1944 में मंदिर की देखरेख के लिये एक सोसायटी की स्थापना की गई जो पंजीकॄत है । वर्तमान में सोसायटी के अध्यक्ष श्री नवीन कपूर जी है जो बद्री भगत जी के वंशज हैं । मंदिर का प्रतिदिन का कार्य सोसायटी द्वारा मनोनीत न्यासियों की देखरेख में होता है ।

About Us

सामान्य प्रशासन - बद्री भगत झंडेवाला देवी मंदिर का सारा प्रबंध "1944 में स्थापित बद्री भगत झंडेवाला टेम्पल सोसायटी" द्वारा किया जाता है । इस समय सोसायटी के प्रमुख का कार्य श्री नवीन कपूर जी की देखरेख में चल रहा है। सोसायटी के अन्य न्यासी समाज के विभिन्न वर्गों से लिय गये हैं जिन्हें धार्मिक एवं सामजिक कार्यों का अनुभव है । मंदिर का प्रबंधन एक मंत्री की देखरेख में चलता है .........

Events

गौशाला मे बीमार, घायल, एवं वृद्ध गायों की सेवा
श्री श्याम गौ शाला चान्दला डूंगरवास, पचगांव, जिला - गुरूग्राम(हरियणा) मे बद्री भगत झण्डेवाला मन्दिर समिति ने वर्ष 2013 तहसील मानेसर जिला गुरूग्राम में अपनी 8 एकड़ भूमि पर लगभाग 5 करोड़ रूपये की लागत से एक गौ शाला और अनुसंधान केन्द्र स्थापित करने का निर्णय लिया और उस पर तेजी से अमल करते हुए दिसम्बर 2013 में अनेक सन्त महात्माओं एवं स्थानीय लोगों की उप-िस्थति में भूमि पूजन किया गया और 20 जनवरी 2014 को पूज्य सन्त महात्माओं एवं विश्व हिन्दू परिषद के सरक्षक माo अशोक जी सिंघल के द्वारा हजारों स्थानीय लोगों की उपस्थित में गौशाला का उद्घाटन किया गया। शेष निर्माण कार्य एवं अन्यान्य व्यवस्थाओं को पूरा करने का कार्य तेजी से जारी है। गौशाला का मुख्य उद्देश्य बीमार, घायल, एवं वृद्ध गायों की सेवा करना है। इस कार्य के लिए इस गौशाला में एक चिकित्सालय का निर्माण किया जा रहा है जहा¡ हर प्रकार की चिकित्सा सुविधा उपलब्ध होगी। इसके अतिरिक्त गौशाला परिसर में ही आधुनिक उपकरणों से लैस अनुसंधान शाला का निर्माण भी किया जाएगा, उत्पादों के परीक्षण एवं उपयोग सम्बन्धी अनुसंधान भी किये जायेगे।
निशुल्क एकुप्रेशर सेवा
बद्री भगत झंडेवाला टैम्पल सोसाइटी द्वारा मंदिर में प्रत्येक रविवार को प्रता : 10 बजे से 12 बजे तक केवल सेवादार परिवारों , बुजुर्गो और बीमार लोगो के लिए निशुल्क एकुप्रेशर सेवा की जा रही है। ये सेवा काफी लम्बे समय से चल रही है। अधिक जानकारी के लिए मंदिर के स्वागत कक्ष में संपर्क करें।